राज्य

तुष्टिकरण के खिलाफ बड़ी चौपड़ पर महाधरना आज, तीन घंटे का बंद

जयपुर के सभी प्रमुख व्यापार मंडलों ने दिया खुला समर्थन

जयपुर। राजधानी के गंगापोल क्षेत्र में 29 अक्टूबर को हुई दुर्घटना को सांप्रदायिक रंग देने के विरोध में जयपुर बचाओ संघर्ष समिति के बैनर तले बुधवार को सुबह 10 बजे बड़ी चौपड़ पर दिए जाने वाले महाधरने को सभी प्रमुख व्यापार मंडलों ने खुला समर्थन दिया है। मंगलवार को विभिन्न हिंदूवादी और व्यापारिक संगठनों की साठ से अधिक स्थानों पर बैठकें हुईं जिसमें दुर्घटना को मॉब लिंचिंग का नाम देकर हिन्दू परिवारों को प्रताडि़त करने का कड़ा विरोध किया गया। लोगों ने इस बात पर गहरा आक्रोश जताया कि घटना की आड़ में समुदाय विशेष की हिंसक भीड़ द्वारा शहर में की जा रही लूटपाट और तोडफ़ोड़ को रोकने के लिए पुलिस ने कुछ भी नहीं किया। सहकार मार्ग स्थित सेवा सदन में सर्व समाज की बैठक हुई। इसमें सभी समाजों के प्रमुख पदाधिकारी उपस्थित रहे। जयपुर बचाओ संघर्ष समिति के संयोजक राजकुमार गुप्ता ने बताया कि सर्व समाज को साथ लेकर बुधवार को बड़ी चौपड़ पर दिए जाने वाले महाधरने में संत समाज का सान्निध्य प्राप्त होगा। शांतिपूर्वक दिए जाने वाले महाधरने में देश भक्ति गीत और हनुमान चालीसा के सस्वर पाठ होंगे। सर्व समाज हिंदू महासभा के अध्यक्ष चंद्रप्रकाश भाड़ेवाला ने कहा कि सर्व समाज की एकजुटता से ही इस तरह की घटना पर रोक लग सकती है। उन्होंने अधिक से अधिक लोग परिवार सहित महाधरने में पहुंचकर सफल बनाने का आह्वान किया।

 

सौ से अधिक व्यापार मंडल एकजुट:

जयपुर व्यापार महासंघ ने जयपुर के सभी छोटे-बड़े व्यापारिक प्रतिष्ठान बुधवार सुबह 10 बजे से दोपहर 1 बजे तक सांकेतिक रूप से बंद रखने का समर्थन किया है। महासंघ द्वारा जारी सूचना में कहा गया कि कतिपय असामाजिक तत्वों ने कानून को हाथ में लेकर जयपुर के व्यापार जगत को बंदी बनाकर जयपुर की कानून व्यवस्था को बदनाम कर दिया। ऐसे तत्वों पर सख्त कार्रवाई की जाए ताकि भविष्य में कोई इस तरह का दुस्साहस न कर सकें।

जयपुर व्यापार महासंघ के संरक्षक विरेंद्र राणा, अध्यक्ष सुभाष गोयल, महामंत्री सुरेन्द्र बज, कार्यकारी अध्यक्ष हरीश केडिया, वरिष्ठ उपाध्यक्ष सुरेश सैनी, कोषाध्यक्ष सोभागमल अग्रवाल, मुख्य सलाहकार हुकमचंद अग्रवाल, राजेन्द्र कुमार गुप्ता की अगुवाई में जयपुर के विभिन्न व्यापार मंडलों के पदाधिकारियों ने मंगलवार को महाधरने को सफल बनाने की कार्ययोजना बनाई। चारदीवारी के अलावा वैशालीनगर, अजमेर रोड, सांगानेर, प्रतापनगर, मालवीयनगर, झोटवाड़ा, कालवाड़ रोड, सीकर रोड, दिल्ली रोड के व्यापारियों और औद्योगिक संगठनों ने तीन घंटे के बंद का खुला समर्थन किया।

राजापार्क व्यापार मंडल के अध्यक्ष रवि नैय्यर ने कहा कि हम सभी जयपुर व्यापार मंडल के सदस्य व्यापारी वर्ग पर हमले का पूर्णतया विरोध करते हैं। विरोध स्वरूप बंद को हमारा समर्थन करते है।। सभी व्यापारियों से आह्वान करते हैं कि वे बड़ी चौपड़ पर धरने पर अपनी उपस्थिति दर्ज करवाए। खाद्य पदार्थ व्यापार मंडल के अध्यक्ष केदारनाथ अग्रवाल, महामंत्री सतीश कुमार रावत ने बताया कि मंगलवार को मंडल की आपातकालीन बैठक में सभी सदस्यों ने बड़ी चौपड़ पर दिए जाने वाले धरने में शामिल होने का निर्णय लिया। सूरजपोल मंडी रोड सद्भावना समिति के अध्यक्ष महेश मोदी, उपाध्यक्ष सीयाराम शर्मा, महामंत्री ब्रजमोहन खंडेलवाल, कोषाध्यक्ष श्याम सुंदर गुप्ता, रामगंज बाजार व्यापार मंडल के अध्यक्ष हुकुम चंद अग्रवाल, कोषाध्यक्ष अशोक सौकिंया ने महाधरने में शामिल होने की घोषणा की है।

 

यह है व्यापारियों की प्रमुख मागें:

*घटना में संलिप्त असामाजिक तत्वों पर अविलंब कार्रवाई की जाए।

* दोषियों को गिरफ्तार किया जाए।

* व्यापारियों को सुरक्षा मुहैया करवाई जाए।

 

विधायकों-पूर्व विधायकों ने लिखे मुख्यमंत्री को पत्र:

विद्याधरनगर विधायक नरपत सिंह राजवी सहित कई वर्तमान और पूर्व विधायकों ने मंगलवार को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को पत्र लिखकर सरकार की तुष्टिकरण की नीति की कड़ी निंदा की। राजवी ने पत्र में लिखा कि जान-माल को हानि पहुंचाने वाले लोगों की पहचान कर उन्हें दंडित नहीं किया गया यह आश्चर्यजनक है। आपसी झगड़ों में आपराधिक केस ही एकमात्र उपाय है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
×

Powered by WhatsApp Chat

×