कृषि/विज्ञान/टेक्नोलॉजी

सीएनएच इंडस्ट्रियल ने की यूपीईएस देहरादून में आयोजित अपने औद्योगिक डिज़ाइन कार्यक्रम के विजेता की घोषणा

विजेता न्यू हॉलैंड एग्रीकल्चर के ग्रेटर नोएडा विनिर्माण संयंत्र का दौरा करेंगे

दिल्ली (24 समाचार)। कृषिऔर निर्माण (कंस्ट्रक्शन) उपकरण में वैश्विक स्तर पर अग्रणी कंपनीसीएनएच इंडस्ट्रियल इंडिया ने देहरादून में एक बहु-विषयक (मल्टी-डिसिप्लिनरी) विश्वविद्यालय यूपीईएस के साथ भागीदारी में अपने औद्योगिक डिज़ाइन कार्यक्रम के विजेताओं की घोषणा की। अभिजीत एमएसअरविंद एम और वृषध्वज गुंजारी की विजेता टीम ने अपने मेंटर लवेंद्र शुक्ला के साथ अपनी कोको हार्वेस्ट‘ अवधारणा के लिए जीत हासिल की।

औद्योगिक डिज़ाइन कार्यक्रम एक संयुक्त प्रयास थाऔर सीएनएच तथा यूपीईएस के बीच हुए समझौते (एमओयू) पर आधारित था। कार्यक्रम का उद्देश्य कृषि मशीनरी के लिए समाधान विकसित करने के लिए युवा प्रतिभाशाली छात्रों के बीच नवोन्मेष और रचनात्मकता को बढ़ावा देना है। इस भागीदारी में अनुसंधानसंयुक्त परियोजनाओंशैक्षणिक आदान-प्रदानकार्यशालाओंसेमिनारों और प्रशिक्षु सह-पर्यवेक्षण सहित विभिन्न किस्म के आपसी सहयोग के प्रयास शामिल रहे।

लीडर इंडिया टेक्नोलॉजी सेंटरसीएनएचआशीष शर्मा ने कहा, “हमें अपने औद्योगिक डिज़ाइन कार्यक्रम में विजेताओं की उत्कृष्ट उपलब्धियों का जश्न मनाते हुए खुशी हो रही हैजो यूपीईएस के साथ हमारी सफल भागीदारी का परिणाम है। यह कार्यक्रम छात्रों के नवोन्मेष और रचनात्मकता जज़्बे को बाहर लाने का एक प्रेरणादायक सफ़र रहा। हम ऐसी पहल के लिए प्रतिबद्ध हैं जो अगली पीढ़ी के डिज़ाइनरों को संवारती और मदद करती है।

10-सप्ताह के कार्यक्रम में पांच समूहों में 20 छात्रों ने वास्तविक दुनिया की परियोजनाओं पर काम किया और व्यावहारिक अनुभव प्राप्त किया। इसके लिए उन्हें एक नया व्हीकल विकसित करने की ज़रुरत थी और इससे उन्हें कृषि मशीनरी डिजाइन और विकास की गहरी समझ प्रदान मिली। छात्रों ने अनुसंधानपरिकल्पनाडिज़ाइनसोर्सिंगप्रोटोटाइपिंग और उत्पादन कौशल सीखा। इसके अतिरिक्तसीएनएच की अनुभवी टीम ने यूपीईएस का दौरा कियासलाह दी और छात्रों की डिज़ाइन संबंधी चिंताओं का समाधान किया। यूपीईएस और सीएनएच दोनों ने रचनात्मकतानवीनता और समग्र सर्वोत्तम डिजाइन समाधान के आधार पर अलग-अलग परियोजनाओं का मूल्यांकन किया।

सीएनएच के औद्योगिक डिज़ाइन प्रमुख डेविड विल्की ने कहा, “छात्रों के अनुसंधान और डिजाइन रचनात्मकता को देखना मेरे और मेरी टीम के लिए एक शानदार अनुभव रहा है। वे फलों की कटाई में सुधार के अवसरों की तलाश में पूरी तरह से लगे रहे। एक औद्योगिक डिजाइनर का काम हैकिसी समस्या पर ध्यान केंद्रित करना और ऐसा समाधान तैयार करनाजो काम को आसानतेज़ और सुरक्षित बनाता है। यूपीईएस के छात्रों के साथ काम करना हमारे लिए प्रेरणादायक रहा हैसाथ ही छात्रों को उनकी रचनात्मक प्रक्रियाओं को विकसित करने में भी मदद मिली। डिज़ाइन टीमें नारियलअनानासब्लूबेरीरसभरीस्ट्रॉबेरी और यहां तक कि आम की कटाई के लिए विचार लेकर आई हैं।

यूपीईएस के स्कूल ऑफ डिजाइन (एसओडी) के डीन फनी तेतली ने कहा, “भारत में युवा प्रतिभाओं के विकास में सहायता के लिए सीएनएच के साथ भागीदारी कर हमें खुशी हो रही है। यह भागीदारी न केवल छात्रों को अपनी प्रतिभा दिखाने का अवसर प्रदान करेगीबल्कि सीएनएच में अनुभवी पेशेवरों से विशेषज्ञ मार्गदर्शन भी प्राप्त करेगी। उम्मीद है कि इस पहल के साथहम अगली पीढ़ी के डिज़ाइनरों को उद्योग में प्रवेश करने और बदलाव लाने के लिए आवश्यक कौशल और ज्ञान से लैस कर सकेंगे।

सीएनएच इंडस्ट्रियल इंडिया अपने केस आईएचन्यू हॉलैंड एग्रीकल्चर और केस कंस्ट्रक्शन इक्विपमेंट ब्रांडों के ज़रिये 25 साल से अधिक समय से मेड इन इंडिया‘ विनिर्माण परिचालन के साथ इंजीनियरिंग उत्कृष्टता के विश्व स्तरीय उत्पाद प्रदान करने के वादे को पूरा करते हुए देश की सेवा कर रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
×

Powered by WhatsApp Chat

×