राज्य

राजस्थान राज्य के लाइसेंसधारी टूरिस्ट गाइड्स ने शहीद स्मारक पर दिया विभिन्न समस्याओं के समाधान के लिये धरना

  1. जयपुर (24 समाचार)। राजस्थान के विभिन जिलों से आए टुरिस्ट गाइड्स ने मंगलवार को शहीद स्मारक स्थल पर धरना दिया जिसका संचालन दारा सिंह गुर्जर एवम विजय सिंह शेखावत ने किया।

विजय सिंह शेखावत ने बताया कि धरना से पूर्व ही मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को मेल एवम ट्विटर के माध्यम से राज्य सरकार द्वारा नए 6000 राजस्थान में लाइसेंस्ड टूरिस्ट गाइड्स की विभिन्न मांगो के बारे में एक मांग पत्र भेजकर टूरिस्ट गाइड्स की समस्याओं के समाधान हेतु समय मांगा है जिससे की मुख्यमंत्री को टूरिस्ट गाइड्स को हो रहीं परेशानियों से अवगत करवाया जा सके।

शेखावत ने मांगों के बारे में विस्तार से बताते हुए कहा कि जिस प्रकार सरकारी कर्मचारियों की सेवानिवृत्ति आयु 60 वर्ष की होती है ठीक उसी प्रकार से टूरिस्ट गाइड की कार्य क्षमता के अनुसार 60 वर्ष के बाद सरकार द्वारा पेंशन शुरू किया जाना चाहिए।

टूरिस्ट गाइड्स का भी प्रचार प्रसार होना चाहिए, विज्ञापन के माध्यम से ही सही, ताकि दुनियां टूरिस्ट गाड़ड़ के अस्तित्व को समझे, पर्यटन गाइडस को स्थाई करने की मांग है इसलिए राज्य सरकार इस महत्वपूर्ण मुद्दे एवम मामले में समय रहते ही संज्ञान लेकर गाइड्स के साथ न्याय करे जिससे इन्हें अपनी मांगे मनवाने के लिए धरना प्रदर्शन नही करना पड़े।
आमेर में प्रवेश शुल्क बढ़ाये जाने के आदेश को सरकार तुरंत प्रभाव से वापिस ले।

समाज सेवी रवि शंकर धाभाई ने कहा कि टूरिस्ट गाइड पर्यटन क्षेत्र की रीढ़ की हड्डी है जिसके बिना पर्यटन नही चल सकता है। पर्यटन क्षेत्र से प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से देश के 5 करोड़ लोगों को रोजगार मिलता है । आज तक भी किसी भी राज्य ने इनको सरकारी सेवा में लेने या इनकी सेवाओं का सरकारी नियमित करने की पहल नही की है और यदि इस प्रकार की पहल या मुहिम की जाती है तो यह एक ऐतिहासिक एवम सहरानीय फैसला होगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
×

Powered by WhatsApp Chat

×