राजनीति

प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोतअल्पसंख्यक विरोधी है, समाज को केवल वोट बैंक समझते हैंः- हमीद खान मेवाती

कांग्रेस सरकार अल्पसंख्यक समाज से किये अपने वादों को निभाने में विफल रहीः- सरदार अजयपाल सिंह

जयपुर। भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के प्रदेशाध्यक्ष हमीद खान मेवाती ने प्रेसवार्ता करते हुए कहा कि कांग्रेस सरकार ने वादा किया था कि अल्पसंख्यक विभाग से सम्बन्धित योजनाओं के क्रियावन्यन से सम्बन्धित सभी विभागों के मध्य समन्वय एवं योजनाओं की बेहतर मॉनिटिरिंग के लिए राज्य स्तर पर एक विशेष प्रकोष्ठ बनाने की घोषणा की गई थी, जिसका गठन आज तक नहीं किया गया है।

मेवाती ने कहा कि कांग्रेस के जनघोषणा पत्र में मदरसों को कम्प्यूटरीकृत करने तथा उन्हें इन्टरनेट सेवा से जोड़ने की घोषणा की गई थी, जिसमें भी प्रदेश की सरकार पूर्ण रूप से विफल रही। प्रदेश के सभी प्राथमिक सरकारी विद्यालयों में उर्दू संकाय शुरू करते हुए उर्दू अध्यापकों की नवीन भर्ती करने एवं प्राथमिक स्तर की उर्दू शिक्षा मुख्यमंत्री की बजट घोषणा 2021-22 के बावजूद बहाल नहीं करके प्रदेश के सरकारी स्कूलों में कक्षा 1 से 5 तक अतिरिक्त विषय उर्दू की शिक्षा पूरी तरह से बंद कर दी गई है और इसी प्रकार उर्दू की निशुल्क किताबें उपलब्ध कराने का प्रावधान भी खत्म कर दिया है, उर्दू टीचर के लेवल प्रथम के पदों का प्रावधान भी अभी तक नहीं किया गया है, लाखों उर्दूभाषी विद्यार्थियों के भविष्य के साथ इस सरकार ने खुलेआम खिलवाड़ किया है और अल्पसंख्यक समुदाय के तथाकथित धर्मनिरपेक्ष विधायकों के मुंह में अभी तक दही जमा हुआ है।

मोर्चा के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष एम. सादिक खान ने कहा कि इस सरकार में वक्फ सम्पत्तियों के हालात बद से बदतर हो चुके हैं। न्यायालय संपदा अधिकारी द्वारा वक्फ की करीब 800 जायदादों को अतिक्रमण मुक्त कराये जाने के निर्णय पारित किये जाने के बाबजूद राजस्थान की गुंगी व बहरी सरकार ने पुलिस जाब्ता उपलब्ध नहीं करवाकर अतिक्रमणकारियों के हौंसलें बढ़ाने का काम किया है। इस सरकार ने वक्फ सम्पत्तियों का किराया अदा नहीं करके वक्फ बोर्ड में कार्यरत कर्मचारियों के परिवारों को भूख से मरने के लिए मजबूर कर दिया है।
भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष एवं मोर्चा प्रदेश प्रभारी सरदार अजयपाल सिंह ने कहा कि आर.पी.एस.सी. के गठन किये जाने के समय में भी अल्पसंख्यक समाज की अनदेखी की गई, मुख्यधारा की राजनैतिक नियुक्तियों में अल्पसंख्यक समाज को पूर्णतः दरकिनार किया गया। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपने तीनों शासनकाल में अन्य प्रशासनिक सेवाओं से भारतीय प्रशासनिक सेवाओं में अधिकारी बनाये जाने को लेकर समाज को बिल्कुल दरकिनार किया।

मोर्चा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष हुसैन खान ने कहा कि गहलोत सरकार ने केवल योजनाओं का नाम बदलने का काम किया है। कांग्रेस सरकार ने पूरे अल्पसंख्यक समाज के साथ वादाखिलाफी का काम किया है।
मेवाती ने कहा कि मुख्यमंत्री के विधानसभा से भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा अपने इस विरोध की शुरुआत करने जा रहा है। मोदी जी ने आह्वान किया है कि सबका साथ सबका विकास लेकर चलेंगे। भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चे के कार्यकर्ता मोदी जी के आह्वान पर इस रक्षाबंधन पर हिंदू बहनों से घर जाकर राखी बंधवायेंगे।

भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा कांग्रेस द्वारा प्रदेश में बिगाड़े साम्प्रदायिक सौहार्द की पूर्ण वापसी के लिए आगामी 05 से 10 अगस्त तक सूफी संवाद कार्यक्रम पूरे प्रदेश में आयोजित करेगा, जिसकी शुरूआत जयपुर के चार दरवाजा स्थित मौलाना जियाउदीन साहब की दरगाह से की जायेगी और 11 से 24 अगस्त तक सभी संभागों में जाकर बड़ा विरोध प्रदर्शन करेंगे, जिसकी शुरूआत मुख्यमंत्री की विधानसभा क्षेत्र सरदारपुरा (जोधपुर) से होगी। अल्पसंख्यक मोर्चा 25 से 31 अगस्त तक पूरे प्रदेश में ‘‘मोदी मित्र अभियान’’ चलाकर अल्पसंख्यक समाज को जागृत करने का काम करेंगा।

इस प्रेसवार्ता में मोर्चा के प्रदेश उपाध्यक्ष फरमान कुरैशी, जावेद कुरैशी, प्रदेश मीडिया प्रभारी एडवोकेट मुराद अली शेख, प्रदेश कार्यालय मंत्री उस्मान खां चौहान, जंगबहादुर पठान, खालिद गौड़, शब्बीर कुडली, रफिक शाह सहित प्रमुख कार्यकर्ता उपस्थित रहें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
×

Powered by WhatsApp Chat

×