धर्म

पूर्वजों की शांति व संतुष्टि के लिए श्रद्धापूर्वक श्राद्ध का विधान किया गया

जयपुर (24 समाचार)। सनातन संस्कृति में अपने ज्ञात अज्ञात पूर्वजों की शांति व संतुष्टि के लिए श्रद्धापूर्वक श्राद्ध का विधान किया गया है। हमारा अंश जिन पूर्वजों की कड़ी से जुड़ा हुआ है, उन सभी को श्रद्धा से नमन करते हुए आज हम सभी ने दया दृष्टि फाउंडेशन के तत्वाधान में दक्षिण मुखी बालाजी गौशाला, हाथोज जयपुर में हाथोज धाम के श्री बाल मुकुंदाचार्य जी के सानिध्य में सविधि तर्पण कर गायों को रोटियां, चारा , दही बड़ा, इमरती व गुड़ खिलाया।

संयोजक श्याम सुंदर शर्मा ने बताया कि फाउंडेशन के इस कार्य से नई पीढ़ी को एक संदेश भी दिया गया कि वह अपने पूर्वजों को विस्मृत ना करें और उन्हें किसी न किसी तरह से अपनी स्मृति में रखें। फाउंडेशन के संरक्षक पृथ्वीराज शर्मा ने तथा डायरेक्टर अलका चौधरी, शिखा शर्मा व पूनम खंगारोत ने इस कार्यक्रम के सभी सहयोगियों के प्रति आभार प्रकट किया।

पितृ तर्पण के अंतिम श्राद्ध दिवस पर हमारे साथ रिटायर्ड एडिशनल एसपी राजेंद्र त्यागी एवं मुक्ता त्यागी, रिटायर्ड क्षेत्रीय श्रम आयुक्त (Central) गिरिराज व चन्द्रकला वर्मा, हेम माथुर, नवीन व मंजूलता तिवारी, आयुष तिवारी, प्रेमलता शर्मा, पंकज बोहरा, रमेश, राजेश चौधरी आदि ने उपस्थित रहकर सक्रिय सहभागिता निभाई।

हमारे नन्हे मुन्ने अतुश व अतुशि शर्मा ने संस्कृत श्लोक उच्चारण से सब का मन मोह लिया। श्री बालमुकुंद आचार्य जी महाराज ने आज के युग में अपने पुराने संस्कार जीवन्त करने हेतु दया दृष्टि टीम की सराहना की।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
×

Powered by WhatsApp Chat

×