धर्म

ग्यारह सौ मंदिरों में एक साथ गूंजा ‘जय हनुमान ज्ञान गुण सागर’

जयपुर। जयपुर बचाओ संघर्ष समिति के आह्वान पर मंगलवार को छोटीकाशी के 1100 मंदिरों में सामूहिक हनुमान चालीसा पाठ के कार्यक्रम हुए। हनुमत शक्ति जागरण के इस सामूहिक आयोजन में बड़ी संख्या में सनातनियों ने उत्साह और उमंग के साथ भाग लिया। संतों-महंतों के सान्निध्य में सर्व समाज के प्रबुद्ध लोगों की उपस्थिति में हुए हनुमान चालीसा पाठ में मातृ शक्ति और युवा शक्ति ने बढ़-चढक़र भाग लिया। मर्यादा पुरूषोत्तम भगवान राम और वीर बजरंग बली की पूजा-अर्चना के बाद लोगों ने श्रद्धाभरे अंत:करण से हनुमान चालीसा का सामूहिक पाठ कर छोटीकाशी में सौहार्द बना रह, ऐसी बजरंग बली से कामना की। इससे पूर्व भाव विभोर कर देने वाले भजन और देशभक्ति गीतों की प्रस्तुतियां दी गईं। संतों ने श्रीराम जय राम जय जय राम का सामूहिक संकीर्तन करवाया। भगवा ध्वज लहराती युवाओं की टोलियों ने एक ही नारा एक ही नाम जय श्री जयश्री राम…, वंदे मातरम…, जयकारा वीर बजरंग बली हर हर महादेव…, भारत माता की जय… के जयकारे लगाकर आयोजन में जोश भर दिया।

चारदीवारी के सभी प्रमुख हनुमान मंदिरों के अलावा राजधानी के 1100 से अधिक हनुमान मंदिरों में ठीक आठ बजे गगनभेदी जयघोष के साथ जय हनुमान ज्ञान गुण सागर की चौपाई गुंजायमान हो उठी। जयपुर बचाओ संघर्ष समिति के संयोजक राजकुमार गुप्ता ने बताया कि प्रशासन संघर्ष समिति की आठ मांगों को जल्दी मानकर उसे पूरा करें। हनुमान चालीसा पाठ के माध्यम से हमने प्रशासन को सद्बुद्धि आए, ऐसी प्रार्थना की है। जयपुर की शांति व्यवस्था से किसी प्रकार का कोई समझौता नहीं किया जाएगा। हनुमान चालीसा के कार्यक्रमों के माध्यम से पूरे समाज की शक्ति का जागरण करने के इस कार्य को समिति और सामाजिक संगठनों ने सफलतापूर्वक किया इसके लिए सभी धन्यवाद के पात्र है।

बोले वक्ता तुष्टिकरण की राजनीति बंद हो:
विभिन्न स्थानों पर हुए हनुमान चालीसा पाठ में संतों और समाज के प्रबुद्ध लोगों ने प्रदेश में तुष्टिकरण का मुद्दा उठाया। सांगानेर में मालपुरा गेट के पास तेजाजी के बाड़े में हुए श्री हनुमान चालीसा सामूहिक पाठ में हजारों की संख्या में श्रद्धालु उमड़ पड़े। वरिष्ठ पत्रकार डॉ. गोपाल शर्मा ने हनुमान जी महाराज की पूजा-अर्चना कर हनुमान चालीसा पाठ का शुभारंभ किया। इस मौके पर डॉ. गोपाल शर्मा ने कहा कि गंगापोल, सुभाष चौक की घटना के बाद जयपुर में असामाजिक तत्वों द्वारा हुई तोडफ़ोड़ और आगजनी के विरोध में चार अक्टूबर को बड़ी चौपड़ पर दिए गए धरने के बाद जयपुर बचाओ संघर्ष समिति ने प्रशासन के समक्ष आठ मांगें रखी थी, उस पर अभी तक कार्रवाई नहीं होना शर्मनाक है। आज प्रदेश में ऐसे हालात बन गए हैं कि सार्वजनिक पार्क में धार्मिक आयोजन के लिए प्रशासन से अनुमति लेनी पड़ रही है।
इसके बाद संत अमरनाथ महाराज ने सभी श्रद्धालुओं को सामूहिक रूप से हनुमान चालीसा का पाठ करवाया। उन्होंने कहा कि हनुमान चालीसा का पाठ पुस्तक में देखते हुए करना चाहिए। कार्यक्रम में सांगानेर क्षेत्र के सर्व समाज के लोग बड़ी संख्या में उपस्थित रहे। सभी का तिलक लगाकर स्वागत किया गया।

इन प्रमुख मंदिरों में उमड़े लोग:
गोविंद देवजी मंदिर, खोले के हनुमान जी, घाट के बालाजी, सांगानेरी गेट हनुमान जी, काले हनुमानजी, ढेहर के बालाजी, हाथोज के दक्षिणमुखी बालाजी, पापड़ के हनुमान जी, चिंताहरण काले हनुमानजी, दहलावास बालाजी मंदिरों में हुए सामूहिक हनुमान चालीसा पाठ में बड़ी संख्या में श्रद्धालु उमड़ पड़े।

जयपुर बचाओ संघर्ष समिति के संयोजक राजकुमार गुप्ता ने गलता दरवाजा रघुनाथ कॉलोनी के हनुमान मंदिर में हनुमान चालीसा में भाग लेते हुए एकत्र भक्तों को जयपुर बचाओ संघर्ष समिति की आठ मांगों के संबंध में जानकारी दी तथा सरकार एवं शासन को आगाह किया कि यह मांगे नहीं मानी गई तो जयपुर बड़े आंदोलन के लिए तैयार होगा।
जयपुर बचाओ संघर्ष समिति के सह संयोजक राजकुमार शर्मा ने कंवर नगर के हनुमान मंदिर, जयपुर व्यापार महासंघ के अध्यक्ष सुभाष गोयल ने चांदपोल हनुमान मंदिर, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अशोक परनामी ने टीला नंबर 7 के हनुमान मंदिर, समिति सदस्य राजेश निर्वाण ने सांगानेरी गेट हनुमान मंदिर, पूर्व विधायक मोहनलाल गुप्ता ने शास्त्री नगर हनुमान मंदिर, मनोहर बटवाड़ा, भरत शर्मा आदि ने रोजगारेश्वर महादेव मंदिर, सुनील सिंह एवं युवा शक्ति वाहिनी के कार्यकर्ताओं ने तारकेश्वर मंदिर, पूर्व मंत्री अरुण चतुर्वेदी ने सिद्धेश्वर मंदिर, प्रताप भानु सिंह शेखावत ने पेट्रोल पंप हनुमान मंदिर, संदीप शर्मा ने पंचवटी हनुमान मंदिर, राकेश शर्मा बजरंग दल ने पापड़ वाले हनुमान मंदिर में उपस्थित रहकर हनुमान चालीसा में भाग लिया एवं भक्तों को संबोधित किया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
×

Powered by WhatsApp Chat

×