Healthराज्य

अचानक क्यों बढ़ रही है आंखों की ये बीमारी

बारिश होते ही आई फ्लू की दस्तक

Eye Flu : बारिश शुरू होते ही आई फ्लू की दस्तक

करोना महामारी के अंदर बहुत से परिवारों ने अपनों को खोया है | करोना महामारी को लोग अभी तक भी भूल नहीं पाए हैं | वहां पर ही बारिश के मौसम की वजह से एक और बीमारी ने दस्तक दी है | जिसका नाम है आई फ्लू जो कि दिल्ली और अन्य राज्यों में बारिश की वजह से बहुत ही तेजी से लोगों में फैल रहा है |

Eye Flu: देश में लगातार बारिश की वजह से हालात बिगड़ते जा रहे हैं | आपको बता देंगे राजधानी दिल्ली वह अन्य राज्यों में लगातार बारिश की वजह से लोग बहुत ज्यादा परेशान हैं | जहां ज्यादा बारिश हो रही है | वहां पर जलभराव की समस्या है | कहीं पर बाढ़ जैसे हालात हो रहे हैं | बारिश की वजह से लोग वैसे ही परेशान है | इसी के बीच एक नई समस्या आ गई है | पिछले कुछ दिनों से आई फ्लू के मामले बहुत तेजी से बढ़ रहे हैं | आज अपन जानेंगे आई फ्लू के लक्षण और बचाव के बारे में |

क्या है आई फ्लू –

यह एक संक्रमण है, जो कंजंक्टिवा की सूजन का कारण बनता है। मानसून के दौरान, कम तापमान और हाई ह्यूमिडिटी के कारण, लोग बैक्टीरिया, वायरस और एलर्जी के संपर्क में आते हैं और ये इसका कारण बन जाते है।

https://amzn.to/3pPvajH

आई फ्लू के लक्षण –

लालपन

सूजन

खुजली

जलन

सफेद चिपचिपा पदार्थ

लगातार पानी बहना

सब कुछ धुंधला दिखाई देना

 

आई फ्लू को फैलने से रोकने के लिए क्या करें

डॉक्टर ने बताया कि यह एक संक्रामक रोग है इसका मतलब संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने से दूसरे व्यक्ति में तेजी से फैल सकता है इसलिए इससे बचने के ल‍िए कुछ बातों का विशेष ध्यान रखें, जैसे-

– आंखों को गुनगुने पानी से क्लीन करें

– संक्रमित व्यक्ति काला चश्मा पहनकर रखे

– टीवी या मोबाइल देखने से बचें

– आंखों को बार-बार छूने से बचें

– आंखों को साफ करने के लिए गंदे कपड़े का इस्तेमाल न करें

– आंखों को छूने के बाद साबुन से हाथ धोना न भूलें

– किसी से भी आई टू आई कांटेक्ट न बनाएं

– हाथों को बार-बार धोना चाहिए

– आंखों को साफ कपड़े से ही साफ करना चाहिए

– आंखों को ठंडे पानी से बार-बार धोएं।

– किसी भी संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने से बचें।

– संक्रमित को नेत्र रोग विशेषज्ञ से परामर्श लेनी चाहिए।

आई फ्लू के लिए घरेलू उपचार – Eye Flu Ke Liye Gharelu Upchaar

गुलाब जल: गुलाब जल से आँखें धोने से आँखों का संक्रमण कम होता है। गुलाब जल की दो बूंद आँखों में दिन में दो बार डालें।

गर्म पानी: आँखों के ऊपर जमा गंदगी को दूर करने के लिए हल्के गर्म पानी से आँख धोएं। गरम पानी को किसी बर्तन में निकालिये और हल्का ठंडा कर लीजिये और आप उस गर्म पानी से सीधे अपनी आँखों को भी धो सकते हैं, जिससे आँखों की गंदगी बाहर निकल जाएगी।

आंवले का रस: आंवले का रस निकाल लें और उस रस को एक गिलास पानी में पिएं। आंवले के रस का प्रयोग सुबह खाली पेट और रात को सोने से पहले दिन में दो बार करना चाहिए।

शहद और पानी का इस्तेमाल: एक गिलास पानी में 2 चम्मच शहद मिलाएं और फिर उस पानी से अपनी आँखों को साफ करें।

पालक और गाजर का रस: पालक के 4 या 5 पत्तों को पीसकर उसका रस निचोड़ लें और 2 गाजर को पीसकर उसका रस निकाल लें। एक गिलास पानी में आधा कप पानी भरकर उसमें गाजर और पालक का रस मिलाकर पी लें। रोजाना ऐसा करने से आँखों का संक्रमण कम होने लगता है। आँखों के संक्रमण के लिए पालक और गाजर का रस बहुत फायदेमंद होता है क्योंकि इनमें पाए जाने वाले विटामिन आँखों के लिए बहुत ज़रूरी होते हैं।

हल्दी और गर्म पानी: 2 चम्मच हल्दी पाउडर को 2 से 3 मिनट तक गर्म करें। उस हल्दी को एक गिलास गर्म पानी में मिला लें। कॉटन की मदद से आँखों को साफ करें। गर्म पानी में हल्दी मिलाकर आँखों को रूई से पोंछना चाहिए।

आलू: एक आलू को पतले टुकड़ों में काट लें। रात को सोने से पहले कटे हुए आलू को 10 मिनट के लिए आँखों पर लगाएं और फिर निकाल लें। आलू में स्टार्च की मात्रा अधिक होती है, जो आँखों के संक्रमण को ठीक करता है।

Disclaime: लेख में उल्लिखित सलाह और सुझाव सिर्फ सामान्य सूचना के उद्देश्य के लिए हैं और इन्हें पेशेवर चिकित्सा सलाह के रूप में नहीं लिया जाना चाहिए। कोई भी सवाल या परेशानी हो तो हमेशा अपने डॉक्टर से सलाह लें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
×

Powered by WhatsApp Chat

×